Home LIFESTYLE BLOGS सरकार क्यों दे रही है 3000 रुपये महीना। देखें पूरी जानकारी

सरकार क्यों दे रही है 3000 रुपये महीना। देखें पूरी जानकारी

देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है, जिससे लोगों की जान के साथ-साथ कारोबार को भी भारी नुकसान हुआ है। अब कोरोना की रफ्तार धीमी जरूर हुई, लेकिन खतरा अभी भी टला नहीं है। केंद्र व राज्यक सरकारें लोगों से एहतियात बरतने की अपील कर रही हैं।

ऐसे में लोगों का कामकाज ठप हो गया है, जिससे सिर पर आर्थिक संकट भी भी डर है। अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि से जुड़े हैं तो यह खबर आपके लिए बहुत मायने रखती है। अपना भविष्य संवारना चाहते हैं तो मोदी सरकार एक स्कीम के तहत आपको पेंशन देगी, जिसके लिए कुछ शर्तें रखी गई हैं। मोदी सरकार ने 60 साल से ऊपर के किसानों को 3000 रुपये रुपये महीना पेंशन यानि एक साल में 36000 रुपये देगी है।

इस योजना का फायदा उन्हीं किसानों को मिलेगा, जो पीएम किसान सम्मान निधि से जुड़े हुए हैं। किसानों के लिए कुछ जरूरी शर्तों को पूरा करना होगा। 

क्या है शर्त-

केंद्र सरकार ने देश के किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए किसानों के लिए पीएम किसान मान धन योजना का आरंभ किया है। इस योजना का लाभ सिर्फ वही किसान उठा सकते हैं, जो कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत रजिस्टर्ड हैं। इस योजना का उद्देश्य छोटे और मझोले किसानों को मासिक पेंशन के रूप में आर्थिक मदद पहुंचाना है।

केसे मिलेगा योजना का फायदा, जानिए

इस योजना का लाभ उठाने के लिए सबसे जरूरी शर्त यह है कि किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत पंजीकृत होने चाहिए। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को किसी भी प्रकार का कोई दस्तावेज भी नहीं जमा करना होगा।

इस योजना का लाभ सिर्फ वही किसान उठा सकते हैं, जिनके पास दो हेक्टेयर से भी कम कृषि भूमि है। अगर आवेदक किसान इस शर्त को पूरा नहीं करता है, तो वह इस योजना का लाभ उठाने का अधिकारी नहीं होगा।

इस योजना के तहत 60 साल से अधिक आयु के किसानों को हर माह 3,000 रुपये की आर्थिक मदद प्रदान की जाती है। वहीं, इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को कम से कम 20 वर्ष और अधिकतम 40 वर्षों तक अंशदान करना होगा। 

18 वर्ष से 40 वर्ष तक की आयु का कोई भी किसान इस योजना के तहत रजिस्ट्रेशन करा सकता है। इस योजना के तहत किसानों को 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक का हर महीने अंशदान करना होता है।

Exit mobile version