Home LIFESTYLE BLOGS हर LPG Cylinder पर होता है 50 Lakh का LPG Insurance, जानिए-कैसे मिलता है?

हर LPG Cylinder पर होता है 50 Lakh का LPG Insurance, जानिए-कैसे मिलता है?

lpg cylinder

क्या आपको पता है कि अगर आपके पास LPG Cylinder का Connection है तो आप अपने Deyler से 50 लाख तक का LPG Insurence ले सकते हैं। यह insurence या बीमा आपको LPG से होने वाले दुर्घटना से हुई छति या नुकसान से आपको राहत देने के लिए यह सेवा शुरू की थी। यहाँ आपको हम यह भी बताएंगे कि आपको क्या क्या Document चाहिए और किस बात का आपको ध्यान रखना है। और आपको यह राशि कैसे मिलेगी और क्या करना होगा।

तो सबसे पहले हम आपको एक केस के बारे में बतादें जो कि आपको कोई दुर्घटना के समय आप क्या करे इसके बारे में जानकारी मिलेगी तो चलिए देख लेते हैं।

जानिए क्या था पूरा केस? LPG Cylinder

कुछ समय पहले दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके में एक कंज्यूमर के घर में Gas का Cyilender लीक हुआ और ब्लास्ट के कारण सास और बहू दोनों बुरी तरह झुलस गए. बाद में इलाज के दौरान बहू ने दम तोड़ दिया. 3 अप्रैल 2003 को महिला और उनकी बहू किचन में खाना बना रही थीं. इसी दौरान Gas Cyilender खाली हो गया. जब दूसरा भरा सिलिंडर लगाने के लिए लाया गया तो कैप खोलते हुए उसमें से गैस लीक हुई और लिक्विड गैस का फव्वारा फूटा, फव्वारा फूटते ही दोनों महिलाओं का उस दुर्घटना में देहांत हो गया।

तो फिर उनके परिवार जनों ने उस दुर्घटना की जानकारी नज़दीकी Polish Station में दी और उनका Postmardam Report को उन्होंने LPG Deyler को Sumbit किया जिसे उन्हें उस Insurance का लाभ हुआ।

LPG Insurance Important Document

>> एक दुर्घटना पर ज्यादा से ज्यादा 50 लाख रुपये तक का मुआवजा मिल सकता है. दुर्घटना से पीड़ित हर व्यक्ति को अधिकतम 10 लाख रुपये की क्षतिपूर्ति दी जा सकती है.

>>MyLPG.in (http://mylpg.in) के मुताबिक जैसे ही कोई व्यक्ति LPG Connection लेता है तो उसे मिले Cylinder से यदि उसके घर में कोई दुर्घटना होती है तो वह व्यक्ति 50 लाख रुपये तक के बीमा का हकदार हो जाता है.

>> LPG Cylinder के Insurance Cover पाने के लिए ग्राहक को दुर्घटना होने की तुरंत सूचना नजदीकी पुलिस स्टेशन और अपने LPG Delar को देनी होती है.

>> PSU Oil विपणन कंपनियों जैसे Indian Oil, HPC तथा BPC के वितरकों को व्यक्तियों और संपत्तियों के लिए Third Party Inurance Cover सहित दुर्घटनाओं के लिए Insurance Policy लेनी होती है.

>> ये किसी व्यक्तिगत ग्राहक के नाम से नहीं होतीं बल्कि हर ग्राहक इस Policy में Cover होता है. इसके लिए उसे कोई प्रीमियम भी नहीं देना होता.

>> FIR की Copy, घायलों के इलाज के पर्चे व Medical Bil तथा मौत होने पर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, मृत्यु प्रमाणपत्र संभाल कर रखें.

>> दुर्घटना होने पर उसकी ओर से वितरक के जरिए मुआवजे का दावा किया जाता है. दावे की राशि बीमा कंपनी संबंधित वितरक के पास जमा करती है और यहां से ये राशि ग्राहक के पास पहुंचती है.

तो दोस्तो अगर जो भी इस Post को पढ़ रहा है तो इस बात का ध्यान रखें कि आप भी ऐसी दुर्घटना के बाद इस Insurance का लाभ ले सकते हैं।

Exit mobile version