अगर आप बार-बार जम्हाई लेते हैं तो इसे न करें नजरअंदाज, हो सकती है ये समस्याएं

आमतौर पर जम्हाई थकान के कारण होती है। जो एक तरह की शारीरिक प्रक्रिया है। ज्यादातर जम्हाई तब और भी ज्यादा आती है जब आप इसके बारे में पढ़ रहे होते हैं या दूसरों को जम्हाई लेते हुए देखते हैं। जम्हाई आने के कई कारण हो सकते हैं। जो कई स्वास्थ्य स्थितियों से जुड़े होते हैं। शोध के अनुसार, जब किसी व्यक्ति को पर्याप्त नींद नहीं आती है या किसी चीज को लेकर थकान और तनाव होता है, तो जम्हाई लेने से सबसे ज्यादा दर्द होता है।

images281429

इस दौरान व्यक्ति को कभी-कभी सांस की तकलीफ महसूस हो सकती है। साथ ही, आपको अपना ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई महसूस हो सकती है। मेडिकल न्यूज टुडे के अनुसार, अत्यधिक जम्हाई लेना या बार-बार जम्हाई लेना भी किसी दवा के दुष्प्रभाव हो सकते हैं। हालांकि इसके और भी कारण हो सकते हैं जो इस प्रकार हैं।

नींद की समस्या

यदि आपको पर्याप्त या पर्याप्त नींद लेने में परेशानी हो रही है, तो आप सामान्य से अधिक जम्हाई ले सकते हैं।

तनाव की समस्या

चिंता सबसे ज्यादा जम्हाई लेती है। चिंता से हृदय की समस्याएं, सांस लेने में कठिनाई और सांस की तकलीफ होती है। चिंता में रहते हो तो जम्हाई ज्यादा आती है।

दवाओं के कारण

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो ड्रग्स लेते हैं। जिससे अत्यधिक जम्हाई भी आ सकती है। एंटीहिस्टामाइन, दर्द निवारक आदि का सेवन मतली का कारण बन सकता है।

हृदय रोग

अत्यधिक जम्हाई का संबंध वेजस नर्व के कारण हो सकता है। जो दिमाग से दिल और पेट तक जाता है। शोध के अनुसार, अत्यधिक जम्हाई दिल के आसपास रक्तस्राव या दिल के दौरे की संभावना का भी संकेत देती है।

स्ट्रोक का कारण

जिन लोगों को स्ट्रोक की समस्या रही है, उन्हें भी अधिक जम्हाई आ सकती है। मस्तिष्क की चोट के बाद, जम्हाई मस्तिष्क और शरीर के तापमान को नियंत्रित और कम करने में मदद कर सकती है।

अगर नींद की समस्या है, जैसे कि अनिद्रा या अवसाद, तो इस स्थिति में आप अपने सोने के समय में सुधार कर सकते हैं। यदि यह अधिक दवाओं के कारण है तो आप कम शक्ति की दवा के लिए डॉक्टर से पूछ सकते हैं और यदि यह किसी अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति के कारण है तो डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है।

Leave a Reply