हैं कौन अभिजीत सिंह सांगा ?

34 साल के युवा नेता हैं. राजनीति की शुरुआत की थी समाजवादी पार्टी (SP) के साथ. बाद में चले गए कांग्रेस में. 2012 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा. कांग्रेस के टिकट पर, बिठूर से ही. लेकिन जीत नहीं मिली. जनवरी 2017 तक कांग्रेस में रहे. लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हो गए. बिठूर से ही दोबारा चुनाव लड़ा और इस बार जीत गए. समाजवादी पार्टी के मुनिंद्र शुक्ला को हराया.

इनका ट्वीटर पर एक video बहुत वायरल हो रहा है #विधायक हो तो सांगा जैसा जिसमे वो कह रहे है किसी को भी बुला लाओ देख लेंगे।

video

धर्मनगरी बिठूर में चंद लोगों द्वारा मन्दिर की जगह पर मस्जिद निर्माण करने का प्रयास किया जा रहा था, स्थानीय पुलिस खुद यह निर्माण करा रही थी,जानकारी प्राप्त होने पर तत्काल अवैध निर्माण को मेरे साथ स्थानीय लोगों द्वारा रुकवाया गया
जय श्री राम

नाम तो अभिजीत सिंह है, लेकिन फिर ‘सांगा’ क्यों?

अभिजीत के पुरखे राजस्थान के रहने वाले हैं. जब वो छोटे थे, तब उनकी दादी उनके बड़े भाई को प्यार से राणा बुलाती थीं, और अभिजीत को सांगा. तब से ही उनके घर का नाम सांगा पड़ गया. जब स्कूल गए, तब खेलते-खेलते गिरने पड़ने में उन्हें चोटें बहुत लगती थीं. दोस्त बोलते थे कि या तो राणा सांगा के घाव होते हैं, या तुम्हारे. फिर स्कूल में भी हर कोई उन्हें सांगा बोलने लगा. धीरे से ये नाम अभिजीत की पहचान बन गया. इसलिए उन्होंने अपने नाम के आगे ‘सांगा’ भी जोड़ लिया.