रक्षा बंधन शुभ समय | Raksha Bandhan 2021 Wishes, Photo And Quote

raksha bandhan

Raksha Bandhan 2021 date और शुभ समय


हिंदी पंचांग के अनुसार, Raksha Bandhan 2021 का पर्व हर साल सावन महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस साल Raksha Bandhan का त्योहार 22 august दिन रविवार को मनाया जायेगा. इस दिन बहनें अपने भाइयों को हाथ में राखी बांधेगी और भाई अपने बहनों को रक्षा का बचन देगें. Raksha Bandhan के त्योहार को भाई-बहन के प्रेम और स्नेह का प्रतीक माना जाता है.

Raksha Bandhan भाई-बहनों के बीच मौजूद शुद्ध बंधन का जश्न मनाता है।  इसका शाब्दिक अर्थ है ‘सुरक्षा’ और ‘बंधन’, भाई-बहनों के बीच मौजूद इस अटूट बंधन का उत्सव है।  हमेशा रहने का वादा, हमेशा रक्षा करना, चाहे कैसी भी परिस्थितियाँ हों।  यह बिना शर्त प्यार का उत्सव है जो केवल एक भाई ही प्रदान कर सकता है।  त्योहार सुरक्षा का एक सम्मानित पर्व है, जो भाई-बहन एक-दूसरे को देते हैं।

परंपरागत रूप से अनुष्ठान में भाई-बहन उत्सव में एक साथ आते हैं, जिसमें बहन भाई के माथे पर तिलक लगाती है और उसकी कलाई पर राखी या कंगन बांधती है।  राखी ही सुरक्षा बैंड के रूप में कार्य करती है जो भाई की सुरक्षा सुनिश्चित करती है और वह बदले में उससे यही वादा करता है।

राखी बांधने का सही समय

पंचांग के अनुसार रक्षाबंधन पर राखी बांधने का सही समय सुबह 06.15 बजे से लेकर 10.34 बजे तक का योग रहेगा, जबकि धनिष्ठा योग शाम को करीब 07.40 मिनट तक रहेगा. इस धनिष्ठा योग में राखी बांधना सबसे उत्तम माना गया है.

शुभ समय: 22 अगस्त 2021, रविवार सुबह 05:50 बजे से शाम 10.40 बजे तक रहेगा. इसके बाद रक्षा बंधन के लिए दोपहर का उत्तम समय: 01:44 बजे से 04:23 बजे तक रहेगा.

राशि के अनुसार रखी का रंग क्या होना चाहिए।

  1. मेष राशि
      लाल रंग
  2. वृषभ राशि
    नीला, हरा रंग और गुलाबी रंग
  3. मिथुन राशि
    हल्का हरा, silver और सुनहरा रंग
  4. कर्क राशि
    मोती, सफेद हल्के नीला रंग
  5. सिंह राशि
    केसरिया,गहरा पीला, लाल, गहरा नारंगी रंग
  6. कन्या राशि
    नीला, सुनहरा, पीला, हरा रंग
  7. तुला राशि
    Royal blue, गुलाबी और वॉयलेट रंग
  8. वृश्चिक राशि
    गहरा भूरा, Dark grey, गहरा लाल और महरून आदि रंग
  9. धनु राशि
    बैंगनी के हर शेड खास है, नीला रंग
  10. मकर राशि
    काला आप चाहें तो ग्रे, वॉइलेट, भूरा भी पहन सकते हैं।
  11. कुंभ राशि
    चटक हरा, गहरा वॉइलेट रंग
  12. मीन राशि
    वॉयलेट, बैंगनी, समुद्र जैसा हरा, पहनते हैं तो यह आपके लिए अच्छा विकल्प है।

Read More- छत्रपति शिवाजी महाराज के बारे मे जानकर आप भी रहजाएँगे दंग।

रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है?

इस दिन बहनें अपने भाई की रक्षा के लिए उनके कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं और भाई बहनों को जीवन भर उनकी रक्षा का वचन देते हैं।

रक्षाबंधन क्यों बनाया जाता है, और रक्षाबंधन मनाने के पीछे क्या हैं कारण?

पहले तुलसी और नीम के पेड़ को राखी बांधी जाती थी 

बरसों से चली आ रही रीति के मुताबिक, बहन भाई को राखी बांधने से पहले प्रकृति और संस्कृति की सुरक्षा के लिए तुलसी और नीम के पेड़ को राखी बांधती थीं। जिसे वृक्ष-रक्षाबंधन भी कहा जाता है। जबकि आजकल इसका प्रचलन नही है। राखी सिर्फ बहन अपने भाई को ही नहीं बल्कि वो किसी खास दोस्त को भी राखी बांध सकती है, जिसे वो अपना भाई जैसा समझती है और तो और रक्षाबंधन के दिन पत्नी अपने पति को और शिष्य अपने गुरु को भी राखी बांधते है।

भगवान इंद्र को रक्षाबंधन से मिली थी जीत

भविष्यपुराण में ऐसा कहा गया है कि देवाताओं और राक्षस के बीच एक बार युद्ध छिड़ गया, बलि नाम के असुर ने भगवान इंद्र को हरा दिया और अमरावती पर अपना अधिकार जमा लिया। तब इंद्र की पत्नी सची मदद के लिए भगवान विष्णु के पास पहुंची। भगवान विष्णु ने सची को सूती धागे से एक वयल बनाकर दिया जिसे हाथ में पहना जाता है। भगवान विष्णु ने सची से कहा कि इसे इंद्र की कलाई में बांध देना। सची ने ऐसा ही किया, उन्होंने इंद्र की कलाई में वयल बांध दिया और सुरक्षा व सफलता की कामना की। इसके बाद भगवान इंद्र ने बलि को हरा कर अमरावती पर अपना अधिकार कर लिया

यम और यमुना कथा :

एक अन्य पौराणिक कहानी के अनुसार, मृत्यु के देवता यम जब अपनी बहन यमुना से 12 वर्ष तक मिलने नहीं गये, तो यमुना दुखी हुई और माँ गंगा से इस बारे में बात की. गंगा ने यह सुचना यम तक पहुंचाई कि यमुना उनकी प्रतीक्षा कर रही हैं. इस पर यम युमना से मिलने आये. यम को देख कर यमुना बहुत खुश हुईं और उनके लिए विभिन्न तरह के व्यंजन भी बनायीं.

यम को इससे बेहद ख़ुशी हुई और उन्होंने यमुना से कहा कि वे मनचाहा वरदान मांग सकती हैं. इस पर यमुना ने उनसे ये वरदान माँगा कि यम जल्द पुनः अपनी बहन के पास आयें. यम अपनी बहन के प्रेम और स्नेह से गद गद हो गए और यमुना को अमरत्व का वरदान दिया. भाई बहन के इस प्रेम को भी रक्षा बंधन के हवाले से याद किया जाता है.

Rakshabandhan Best Wishes | Rakshabandhan shayari photos

यदि आप अपने भाई-बहनों को इस शुभ अवसर पर शुभकामनाएं भेजकर उन्हें आश्चर्यचकित करने की योजना बना रहे हैं, तो हमने आपको कवर कर लिया है! नीचे कुछ wishes, images, quotes, and messages दिए गए हैं जिन्हें आप उनके साथ Share कर सकते हैं।

जिनके साथ बड़ी हुई मैं, जिनसे की बहुत लड़ाई
ऐसे प्यारे-प्यारे भैया को रक्षाबंधन की बधाई।

Raksha Bandhan

आया राखी का त्यौहार,
छाई खुशियों की बहार,
एक रेशम की डोरी से बाँधा,
एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार|
|| आपको रक्षाबंधन की शुभकामनाएँ ||

Raksha Bandhan

बहनों को भाइयों का साथ मुबारक हो
भाइयों की कलाइयों को बहनों का प्यार मुबारक हो
रहे ये सुख हमेशा आपकी जिन्दगीं में
आप सबको राखी का पावन त्यौहार मुबारक हो

Raksha Bandhan

फूलों का तारों का सबका कहना हैं
एक हज़ारों में “ Meri ” बेहना हैं …

Raksha Bandhan

बहन का प्यार किसी दुआ से कम नहीं होता
वो चाहे दूर भी हो तो गम नहीं होता
अक्सर रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते है
पर बहन भाई का प्यार कभी कम नहीं होता

Raksha Bandhan

आसमान पर सितारे है जितने, उतनी जिंदगी हो तेरी,
किसी की नज़र न लगे, दुनिया की हर ख़ुशी हो तेरी,
रक्षाबंधन के दिन भगवान से बस यह दुआ है, मेरी!
रक्षा बंधन का हार्दिक अभिनन्दन!

Raksha Bandhan

For More raksha bandhan shayari, image, quote, and wishes

Click here