What is e-RUPI and its benefits/Digital Currency:

PM Modi ने Electronic Voucher पर आधारित एक Digital payment system ‘e-RUPI’ लांच किया है. (e-RUPI Digital Payments) यह देश की अपनी डिजिटल करेंसी के रूप में भारत का पहला कदम है. E-Rupi  एक कैशलेस और डिजिटल पेमेंट्स सिस्टम मीडियम है जो SMS स्ट्रिंग या एक QR-Code के रूप में आप को प्राप्त होगा. इस प्लेटफॉर्म को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI), डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज, मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर और नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने लांच किया है. यह सिस्टम पर्सन-स्पेशिफिक और पर्पज स्पेशिफिक होगा.

e-Rupi Digital Payment

Read More- Top 5 Keyword Research Tool 2021. In Hindi

ये ई-रूपी वाउचर कैसे जारी किए जाएंगे?  How will these e-Rupi vouchers be issued?

यह सिस्टम NPCI ने अपने UPI प्लेटफॉर्म पर तैयार किया है, जिसमें कई बैंकों को भी जोड़ा गया है।  निगमित किए जाने वाले बैंकों को जारीकर्ता संस्थानों के रूप में इसका एक प्रमुख हिस्सा बनाया गया है।  इस ई-रुपी प्रणाली के माध्यम से मातृ एवं शिशु कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों के तहत दवाएं और पोषण संबंधी सहायता प्रदान की जाएगी ताकि दी जाने वाली सहायता सीधे लाभार्थी तक पहुंचे।

इस प्रणाली में लाभार्थी की पहचान उसके मोबाइल नंबर से की जाएगी।  इस प्रणाली द्वारा जारी किए गए ई-रुपी वाउचर का उपयोग केवल वही व्यक्ति कर सकता है जिसे उसे E-Rupi वाउचर आवंटित किया गया होता।  PMO की ओर से जारी बयान में कहा गया कि साकार इस प्रणाली का उपयोग आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, उर्वरक सब्सिडी आदि में भी कर सकते हैं.

e-Rupi Digital Payment

जानिए- क्या हैं e-Rupi/ Digital Payment के 10 फायदे

• E-Rupi एक Cashless और संपर्क रहित Digital Payment है.

• सेवा प्रायोजकों और लाभार्थियों को डिजिटल रूप से जोड़ता है.

• अलग-अलग कल्याणकारी सेवाओं को लीक होने से बचाता है।

• इसे आप QR-Code या SMS स्ट्रिंग-आधारित ई-वाउचर के जरिये भेज सकते हैं, जो लाभार्थियों के मोबाइल पर पहुंचाया जाता है.

• इस निर्बाध एकमुश्त भुगतान प्रणाली के उपयोगकर्ता सेवा प्रदाता पर कार्ड, Digital payment App या interne banking का उपयोग किए बिना वाउचर को withdraw में सक्षम होंगे.

• बिना किसी भौतिक इंटरफेस के डिजिटल तरीके से लाभार्थियों और सेवा प्रदाताओं के साथ ई-रुपया सेवाओं के प्रायोजकों को जोड़ता है.

• यह यह भी सुनिश्चित करता है कि लेन-देन पूरा होने के बाद ही सेवा प्रदाता को भुगतान किया जाए.

• प्री-पेड प्रकृति का होने के कारण, यह सेवा प्रदाता को बिना किसी मध्यस्थ की भागीदारी के समय पर भुगतान का आश्वासन देता है.

• नियमित भुगतान के अलावा, इसका उपयोग आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, उर्वरक सब्सिडी, मातृत्व और बाल कल्याण योजनाओं, टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों, दवाओं और निदान जैसी योजनाओं के तहत सेवाओं के लिए भी किया जा सकता है. वगैरह.

• इन डिजिटल वाउचर का उपयोग निजी क्षेत्र द्वारा अपने कर्मचारी कल्याण और कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी कार्यक्रमों के लिए भी किया जा सकता है.